Recive New Post by email ...

Saturday, January 3, 2015

स्लो कम्प्यूटर/लैपटॉप को बनाएं फास्ट, ये 9 TIPS करेंगी मदद

Kmsraj51 की कलम से…..

                                           CYMT-KMSRAJ51-4

स्लो कम्प्यूटर /लैपटॉप को बनाएं फास्ट, ये 9 TIPS करेंगी मदद

पीसी के स्लो होने पर काम में परेशानी आना लाजमी है। माइक्रोसॉफ्ट वर्ड में डॉक्युमेंट्स डिजाइन करने हों या फिर VLC मीडिया प्लेयर में मूवीज देखनी हो, अगर किसी का सिस्टम स्लो है तो आम तौर पर लोगों को चिढ़ होने लगती है। ऐसे में कई बार कम्प्यूटर फॉर्मेट करना पड़ता है। कई बार कुछ आसान सी टिप्स फॉलो करके अपने सिस्टम की स्पीड को बूस्ट किया जा सकता है। 

स्टार्ट अप करें कम-

कई बार लोग अपने सिस्टम पर स्टार्ट अप प्रोग्राम्स को ज्यादा इंस्टॉल कर लेते हैं। ऐसा करने से कम्प्यूटर की स्पीड कम होती है। जिन लोगों को स्टार्ट अप के बारे में नहीं पता उन्हें बताते चलें कि ये ऐसे प्रोग्राम होते हैं जो कम्प्यूटर के ऑन होने पर ऑटोमैटिकली ऑन हो जाते हैं। इसमें कई विजेट्स जैसे एनालॉग क्लॉक, स्क्रीन न्यूज फीड, जी-टॉक, स्काइप, बिट टोरेंट जैसे प्रोग्राम शामिल होते हैं जिन्हें यूजर्स अक्सर इस्तेमाल करते हैं। 

कैसे करें अनइंस्टॉल-
* स्टार्ट मेनु पर जाएं और रन कमांड चुने या फिर 'windows key + R' क्लिक करें
* जो विंडो ओपन होगी उसमें "msconfig" लिखकर एंटर बटन दबाएं
* यहां से स्टार्ट अप (Start Up) टैब पर क्लिक करें और जिन प्रोग्राम्स का इस्तेमाल नहीं करना उन्हें लिस्ट से हटा दें। 

C ड्राइव को रखें खाली- कम्प्यूटर में C ड्राइव सबसे जरूरी ड्राइव होती है। हार्ड डिस्क के इस हिस्से में सभी जरूरी सॉफ्टवेयर्स रहते हैं जिनके बिना आपका सिस्टम चल नहीं पाएगा। इस ड्राइव में ज्यादा डाटा ना रखें। जो गैर जरूरी प्रोग्राम या सॉफ्टवेयर हैं उन्हें किसी और ड्राइव में इंस्टॉल करें। कोई भी पर्सनल डाटा ना तो C ड्राइव में रखें।

गेमिंग कम्प्यूटर के लिए करें ग्राफिक्स ड्राइवर अपग्रेड - अगर आप HD गेमिंग के शौकीन हैं तो थोड़ा सा तकनीकी, लेकिन काम का उपाय आपके स्लो पीसी को फास्ट बना सकता है। गेमर्स के लिए सबसे जरूरी है कि वो अपने पीसी के ड्राइवर्स अपग्रेड करते रहें। ड्राइवर्स वो खास प्रोग्राम होते हैं जो किसी हार्डवेयर को चलाने का काम करते हैं। पीसी खरीदते समय जो ड्राइवर्स आते हैं वो कुछ समय बाद पुराने हो जाते हैं। 

अपने हार्डवेयर के हिसाब से किसी वेंडर से ड्राइवर अपडेट किए जा सकते हैं। पीसी में AMD, nVidia या इंटेल जिसका भी ग्राफिक्स प्रोसेसर हो उसके हिसाब से वेंडर से ड्राइवर भी अपग्रेड करवा लें। ऐसे में गेम खेलते समय कभी भी पीसी हैंग नहीं होगा। 

ना रखें एक से ज्यादा एंटीवायरस - आज के जमाने में वायरस के कारण एंटीवायरस जरूरी है, लेकिन पीसी के हिसाब से सिर्फ एक रजिस्टर्ड एंटीवायरस ही काफी रहता है। ऐसे में दो प्रोग्राम या अलग के कोई फायरवॉल प्रोग्राम इंस्टॉल करने पर पीसी स्ले हो जाता है। एंटीवायरस या फायरवॉल जैसे प्रोग्राम बहुत पावर लेते हैं ऐसे में दो प्रोग्राम्स एक साथ काम करेंगे तो स्पीड कम होगी। 

करप्ट फाइल स्कैन करें - कम्प्यूटर का ऑपरेटिंग सिस्टम हमेशा पीसी की सिस्टम फाइल्स में बदलाव करता रहता है। इनमें कई फाइल्स ऐसी होती हैं जो सिस्टम अपडेट के बाद करप्ट हो जाती हैं। ऐसी फाइल्स यूजर्स के काम की नहीं होती हैं, लेकिन फिर भी सिस्टम में जगह घेरे रहती हैं। ऐसी फाइल्स को डिलीट किया जा सकता है या फिर रिपेयर किया जा सकता है।

कैसे चेक करें-
करप्ट फाइल्स को चेक करने के लिए-

Control panel> programs> uninstall or change programs
में जाएं। इसके बाद "System File Checking" की मदद से करप्ट फाइल्स पीसी से हटाई जा सकती हैं या फिर इन्हें रिपेयर किया जा सकता है।

हार्डवेयर का रखें ध्यान - अगर आपका पीसी बहुत पुराना हो चुका है तो उसकी स्पीड बढ़ाने के लिए हार्डवेयर बदलना भी जरूरी हो जाएगा। मसलन पीसी की रैम बढ़ाई जा सकती है। केबल बदले जा सकते हैं। कई बार ज्यादा पुराने पीसी में पोर्ट्स जाम हो जाते हैं। अगर बार-बार पीसी हैंग हो रहा है तो किसी टेक्नीशियन को बुला कर हार्डवेयर की जांच करवा लें। एक बार सॉफ्टवेयर को भी जांच लें। मसलन अगर आप विंडोज XP का इस्तेमाल कर रहे हैं तो उसकी जगह विंडोज 7 या 8 इंस्टॉल करा सकते हैं। 

डेस्कटॉप रखें साफ - अगर आप पीसी की स्पीड बूस्ट करना चाहते हैं तो इसके लिए जरूरी है कि अपना डेस्कटॉप साफ रखें। जितनी ज्यादा फाइल्स डेस्कटॉप में सेव होंगी उतनी ही ज्यादा मेमोरी स्पेस खर्च होगी क्योंकि डेस्कटॉप हमेशा काम करता रहता है। डेस्कटॉप पर सेव की हुई फाइल्स कम्प्यूटर की C ड्राइव का हिस्सा बन जाती हैं और इससे ज्यादा रैम खर्च होती है। इसलिए फाइल्स को डेस्कटॉप में सेव करने की जगह ड्राइव्स में सेव करके रखें। 

रजिस्टर्ड एंटीवायरस का इस्तेमाल - इंटरनेट की मदद से पीसी में ढेरों वायरस और मालवेयर आ जाते हैं। इनकी वजह से पीसी की स्पीड धीमी हो जाती है। इसके लिए हमेशा रजिस्टर्ड एंटीवायरस का इस्तेमाल किया जाना चाहिए और हर हफ्ते या महीने में पीसी का फुल स्कैन करना जरूरी है। 

बेकार सॉफ्टवेयर और वीजुअल्स हटा दें - पीसी में ऐसे कई सॉफ्टवेयर्स सेव रहते हैं जिनका उपयोग कभी नहीं किया जाता फिर भी मेमोरी स्पेस घेरे रहते हैं। अगर पीसी की इंटरनल मेमोरी कम है तो ऐसे सॉफ्टवेयर्स को हटा देना चाहिए। इसी के साथ, अगर आप एनिमेशन इफेक्ट्स या वीजुअल्स का इस्तेमाल कर रहे हैं और लाइव स्क्रीन सेवर जैसी चीजें पसंद हैं तो ये भी पीसी को धीमा करने के लिए जिम्मेदार हैं। अगर आपके पीसी की मेमोरी कम है तो इनका इस्तेमाल ना करें। 

Source :- http://www.bhaskar.com/

Please Share your comment`s.

आपका सबका प्रिय दोस्त,

Krishna Mohan Singh(KMS)
Head Editor, Founder & CEO
of,,  http://kmsraj51.com/

& http://mcitpkmsraj51.blogspot.in/


----------- @ Best of Luck @ -----------


   _____Copyright © 2015 - mcitpkmsraj51.blogspot.in All Rights Reserved.______